Search
Close this search box.
  • contact for advertisment
  • IAS Coaching

एसआरएफ फाऊंडेशन की सकारात्मक पहल शिक्षा के क्षेत्र में विशेष योगदान

स्टार न्यूज़ एमपी डेस्क/ प्रदीप शर्मा/भिंड
आजादी के बाद से कई दशकों तक शिक्षा के क्षेत्र में पिछडे चंबल इलाके का भिंड जिला अब सरकार और निजी संस्थाओं की मदद से आगे बढ़ रहा है,शिक्षा के क्षेत्र में एक निजी सामाजिक संस्था एसआरएफ फाऊंडेशन बेहतरीन कार्य कर रही है, जिन्होंने प्राइमरी से लेकर हायर सेकेंडरी स्कूल तक बच्चों को आधुनिक कंप्यूटर शिक्षा के साथ प्रतियोगी परीक्षाओं और अन्य सब्जेक्टों की शिक्षा देने के लिए चलित स्कूल तैयार कराया है जिसमें उन्होंने बस के अंदर कंप्यूटर लैब लगाकर स्कूली बच्चों को उन्हीं के स्कूल के पास बस ले जाकर शिक्षा प्रदान करने का कार्य कर रही है,

-बीते पांच सालों से लगातार कार्य कर रही है यह हाईटेक बस,

यह हाईटेक बस मालनपुर औद्योगिक क्षेत्र के 50 किलोमीटर दायरे में गोद लिए हुए स्कूलों के अलावा जिले भर के कई स्कूलों में भी बच्चों को कंप्यूटर शिक्षा प्रदान करने के लिए पहुंचती है,कंप्यूटर सीख कर कई बच्चे तो पढ़ाई के साथ-साथ निजी प्रतिष्ठानों 2-3 घंटे कंप्यूटर चला कर अपना स्कूल का खर्चा भी निकाल रहे हैं, इस चलित स्कूल की बस हाईटेक होने के साथ-साथ इको फ्रेंडली भी है, इस बस में चलने वाले दो दर्जन कंप्यूटरों के लिए बस के छत पर लगे सोलर पैनल से बिजली प्राप्त की जाती है, तो बहीं गर्मी के लिए बस को एयर कंडीशन भी बनाया गया है।

-हाईटेक बस पर पदस्थ है दो शिक्षक,

इस हाईटेक बस पर लालू सिंह चौहान और मोनू सिंह एसआरएफ कंपनी की ओर से बच्चों को कंप्यूटर और अन्य विषयों की शिक्षा देने का कार्य करते हैं।
दरअसल भिंड जिले के औद्योगिक क्षेत्र मालनपुर में स्थापित इकाइयों द्वारा सीएसआर फण्ड ( कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी फंड) जिसमें निजी कंपनियों द्वारा अपनी आय का 2% स्थानीय क्षेत्र में सामाजिक और पर्यावरण के क्षेत्र लिए खर्च करना होता है, औद्योगिक फर्मों द्वारा कुछ पेड़ पौधे लगाकर फोटो सेशन कराकर इतश्री कर ली जाती थी,

-तत्कालीन कलेक्टर इलैया राजा टी का है विशेष योगदान,

भिंड जिले में पदस्थ हुए 2016-18 में कलेक्टर इलैया राजा टी ने जब इस गोलमोल को देखा तो उन्होंने कंपनी के अधिकारियों से मीटिंग का फंड को सही दिशा में खर्च करने के लिए प्रेरित किया जिसके तहत आज भिंड जिले के मालनपुर इंडस्ट्रियल एरिया में स्थापित औद्योगिक इकाइयों द्वारा सीएसआर फंड सही दिशा में सदुपयोग किया जा रहा है जिसके तहत विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम चलाए जा रहै है, जिनमे एक औद्योगिक इकाई एसआरएफ द्वारा द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में लगातार गुणात्मक प्रयास किये जा रहे हैं, शिक्षा के क्षेत्र में सरकार और निजी सामाजिक संस्थाओं के द्वारा किए गए प्रयासों के परिणाम आज सामने दिखने लगे है,बीते वर्षों
यहां पर हर वर्ष यूपीएससी जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं में प्रियंका शुक्ला, मिनी शुक्ला, विकास सैंथिया, राजीव देयपुरिया, सिमाला प्रसाद, धनंजय सिंह मयंक शर्मा जैसे छात्र अब्बल आकर अंचल का नाम रोशन कर रहे हैं तो वही दूसरी ओर खेलों कैनॉईग एवं कायकिंग प्रतियोगिता में दिव्यांग पूजा ओझा, इंग्लिश चैनल को कम समय में पार करने वाले सत्येंद्र लोहिया जैसे अंचल के युवा राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पटल पर जिले का नाम रोशन कर रहे है।

Star News MP
Author: Star News MP

Leave a Comment





यह भी पढ़ें